पुलिस भर्ती परीक्षा में आखिर सिलेक्शन किसका होता हैं?

पुलिस भर्ती परीक्षा में आखिर सिलेक्शन किसका होता हैं?

सारे जहाँ से अच्छा… हिंदोस्ता हमारा….  दोस्तों सबसे पहले आपको गणतंत्र दिन की हार्दिक शुभकामनाएं.

राज्य में होनेवाली पुलिस भर्ती संबंधी आर्टिकल में हमने आपसे एक वादा किया था जो आज निभाने जा रहे हैं. दोस्तों २६ जनवरी, गणतंत्र दिन के अवसर पर आज हम राज्य पुलिस भर्ती के संबंधी आर्टिकल्स कि वो सीरिज शुरू करने जा रहे हैं जो आपको आपके सिलेक्शन में काफी मदद करेगी. हमारे बहुत सारे दोस्तों को हमारा पिछला आर्टिकल काफी पसंद आया, अगर आप पहली बार वेबसाइट पर यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं तो आप पहला आर्टिकल यहाँ क्लीक करके पढ़ सकते हैं. click here

आपमेंसे बहुत सारे दोस्त बहुत दिनोंसे पुलिस होने का सपना पूरा करने का प्रयास कर रहे हैं और दुःख की बात यह हैं कि बहुत मेहनत करने बाद भी असफल हो रहे हैं. हर साल भर्ती होती हैं, हर साल कुछ ही लोग सफलता हासिल करते हैं लेकिन बाकि बचे लोग फिर एक बार राह देखते हैं. बार बार असफल होकर भी आप नई उम्मीद के साथ फिर एक बार प्रयास करते हो ये बहुत बड़ी हैं, यही बात आपका बुलंद हौसला दिखाती हैं,पर हम आपको कुछ सवाल पूछने वाले हैं क्या इनके जवाब आपके पास हैं?

आपके इस असफलता को आप कब सफलता में बदलोगे? क्या सिर्फ प्रयास करना ही आपके भाग्य में लिखा हैं? आपको नहीं लगता की आप भी उन कुछ लोगोंमे हो जो सिलेक्ट होते हैं? कितने सालोंतक आप यूँही लड़ते रहोगे? क्या आप जो प्रयास कर रहे हो वो आपके सिलेक्शन के लिए काफी हैं? क्या आपके प्रयास की दिशा सही हैं?

हमने आपमेंसे बहुत सारे दोस्तोंसे मिलकर ये जानने का प्रयास किया कि आखिर होता क्या हैं? वो क्या बात होती हैं जो हमें इतना प्रयास करने के बाद भी सफल होनेसे रोकती हैं? क्या सिलेक्ट होनेवाले कैंडिडेट्स कुछ बातें अलग करते हैं जो हम नहीं करते? और इस स्टडी के बाद जो बातें सामने आई हैं वो हम आपसे शेयर करने जा रहे हैं. दोस्तों हम आपसे अनुरोध करते हैं कि आप हमसे जुड़े रहे.

सबसे पहले जान लेते हैं कि आखिर इस भर्ती में सिलेक्शन होता किसका हैं?

इस भर्ती परीक्षा की तैयारी कर रहे हमारे बहुत सारे दोस्तों की समस्या यह होती हैं कि वे इस भर्ती परीक्षा को केवल शारीरिक परीक्षा के रूप में ही देखते हैं, उन्हें ऐसा लगता हैं कि अगर शारीरिक क्षमता टेस्ट पार कर लेते हैं तो उनका चयन आसानी से हो जायेगा, लेकिन ये आपकी ग़लतफ़हमी हैं. इस प्रक्रिया के मुख्यतः दो अंग होते हैं और अंतिम सिलेक्शन के लिए आपको दोनों अंगो को समान महत्व देना चाहिए. केवल लिखित परीक्षा में प्रवीणता प्राप्त होना या केवल शारीरिक क्षमता के लिए कड़ी मेहनत करना बहुत ही गलत तरीका हैं.

मान लीजिये कि आपके दो दोस्त हैं: एक वो हैं जो अपने लिखित परीक्षा में काफी अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता रखता हैं. १०० मार्क्स कि exam में वो कम से कम ९० मार्क्स तो ला ही सकता हैं लेकिन शारीरिक क्षमता के परीक्षा में वो केवल ६०-७० अंको तक पहुँच सकता हैं. आपका एक और भी दोस्त हैं जो शारीरिक क्षमता टेस्ट में ९६-९८ मार्क्स आसानी से पा सकता हैं लेकिन बात वही हैं कि उसकी लिखित परीक्षा तैयारी केवल ५०-६० मार्क्स पाने की हैं. हम आपको यहाँ पर ये बतादे कि आपके इन दोनों दोस्तों के सिलेक्शन के चान्सेस कम हैं, काफी कम बार ऐसा होता हैं कि सिलेक्ट होनेवाले कैंडिडेट्स किसी एक ही पार्ट में माहिर होते हैं.

सिलेक्शन के chart  इस पर ध्यान दीजिये.

इसके बिलकुल दूसरी तरफ अगर हम सिलेक्टेड कैंडिडेट्स की लिस्ट देखे तो ये पता चलता हैं की इतने सारे उम्मीदवारों में वो लोग सिलेक्ट होते हैं जो दोनों भी जगह पर अच्छा प्रदर्शन करते हैं. आप सिर्फ परीक्षा में अच्छे गुण प्राप्त करते हो या फिर शारीरिक क्षमता टेस्ट में शत प्रतिशत मार्क्स पाते हैं तो भी आपके चयन के बारे में कोई गारंटी नहीं दी जा सकती हैं.

सिर्फ वही लोग सिलेक्ट होते हैं जो दोनों क्षेत्रोंमे अच्छे मार्क्स पाँते हैं, अगर आप किसी  एक के आधार पर सिलेक्शन की उम्मीद रखते हों तो आप खुद ही अपने सेलेक्ट होने के चान्सेस कम कर रहे हो. कुछ सालों पहले ऐसे सेलेक्ट होना मुमकिन था पर अभी ये माहोल पूरा बदल गया हैं, आपको पढाई के साथ ही साथ ग्राउंड पर भी पूरी मेहनत करनी होगी. हम जानते हैं इस exam के लिए प्रयास करने वाले दोंस्तो में शारीरिक मेहनत करने के लिए काफी जोश होता हैं लेकिन लिखित परीक्षा कहे तो वो परेशान हो जाते हैं, बिना कठोर मेहनत के यह सफलता पाना काफी मुश्किल काम हैं.

पुलिस भर्ती का विज्ञापन जारी हो चूका हैं, अगर बताये गए दोनों में किसी भी एक पार्ट में आप कमजोर हो तो उस कमजोरी पर मेहनत कीजिये, आपके लिए सकारात्मक बात यह हैं की अभी भी आपके पास बहुत समय हैं, इस परीक्षा के प्रश्नपत्र काफी आसान होते हैं लेकिन आप लिखित परीक्षा की तैयारी ही न करे तो समझो इस साल भी मौका आपके हाथ से निकल जायेगा. आपके दिमाग में बैठे उस जंग को आपको निकलना होगा जो आपको बार बार वही गलती दोहराने के लिए मजबूर करता हैं.

हम जानते हैं कि आनेवाले दिनोंमे आपको पढाई करना काफी मुश्किल लग सकता हैं लेकिन जैसे ही आप शुरू करते हो आपको ये आसान लगने लगेगा. हर नई शुरुवात मुश्किलोंसे ही होती हैं, आपके सफलता की ओर बढ़ रहे कदमों की निशानी ही ये मुश्किलें होती हैं.

पढाई करनी है लेकिन कैसी करनी है? क्या करनी हैं ?  ये सवालोंके जवाब हम आपको हमारे अगले कुछ आर्टिकल्स में जरुर देंगे आपको सिर्फ इसके लिए हमारे साथ जुड़े रहना हैं. हमारे इस आर्टिकल के नीचे दिए फॉर्म में आपका ईमेल आपको इंटर करना हैं और साथ ही हमारे फेसबुक पेज को भी आप like करोगे तो हमारी updates आपको फेसबुक पर भी मिलेगी. आपके कुछ दोस्तों को अगर आपके और हमारे इस सफ़र की जानकारी नहीं हैं तो उन्हें भी www.sbfied.com को visit करने को कहिये. धन्यवाद.

अगर आपने हमारा पहला अर्टिकल नहीं पढ़ा हो तो आप यहाँ क्लीक कर के पढ़ सकते हो.. CLICK HERE !

आप फेसबुक पेज को यहाँ like करके हमारी updates फेसबुक पर भी पा सकते हैं…. CLICK HERE

Share This:

29 thoughts on “पुलिस भर्ती परीक्षा में आखिर सिलेक्शन किसका होता हैं?”

  1. Pingback: here is the link

  2. Pingback: pronbestrank.mobi

  3. Pingback: schatshadowrank.mobi

  4. Pingback: on this page

Leave a Comment

Your email address will not be published.